technology

यूनिकोड क्या है ? यूनिकोड का क्या काम है ?

शायद आप इतना तो जानते ही होंगे की unicode कम्प्यूटर से related  है  unicode प्रत्येक अक्षर के लिए एक विशेष संख्या प्रदान करता है अब हम जानेगे  की यूनिकोड क्या है (unicode kya hai ?) और इसका क्या फायदा और क्या  महत्त्व होता है, ये जानना भी जरुरी है इसलिए आज आपको यूनिकोड के बारे में बताते हैं।

  यूनिकोड क्या है?

यूनिकोड प्रत्येक अक्षर के लिए एक विशेष नम्बर प्रदान करता है,

  • चाहे कोई भी प्लैटफॉर्म हो,
  • चाहे कोई भी प्रोग्राम हो,
  • चाहे कोई भी भाषा हो।

तो अब बात आती है की unicode kya hai ? कम्प्यूटर, मूल रूप से, नंबरों से सम्बंध रखते हैं। ये प्रत्येक अक्षर और वर्ण के लिए एक नंबर निर्धारित करके अक्षर और वर्ण संग्रहित करते हैं। यूनिकोड का आविष्कार होने से पहले, ऐसे नंबर देने के लिए सैंकडों विभिन्न संकेत लिपि प्रणालियां थीं।

किसी एक संकेत लिपि में पर्याप्त अक्षर नहीं हो सकते हैं : उदाहरण के लिए, यूरोपीय संघ को अकेले ही, अपनी सभी भाषाओं को कवर करने के लिए अनेक विभिन्न संकेत लिपियों की आवश्यकता होती है। अंग्रेजी जैसी भाषा के लिए भी, सभी अक्षरों, विरामचिन्हों और सामान्य प्रयोग के तकनीकी प्रतीकों हेतु एक ही संकेत लिपि पर्याप्त नहीं थी।

यूनिकोड हर अक्षर के लिए एक विशेष नंबर प्रदान करता है, चाहे कोई भी कम्प्यूटर प्लेटफॉर्म, प्रोग्राम या कोई भी लैंग्वेज हो। यूनिकोड को बहुआयामी उपकरणों और वेबसाइटों में शामिल करने से बहुत कम खर्चा होता है। यूनिकोड से एक ऐसा सॉफ्टवेयर प्रोडक्ट या वेबसाइट मिल जाती है जिसे री-इंजीनियरिंग के बिना अलग-अलग प्लेटफॉर्म, लैंग्वेज और देशों में उपयोग किया जा सकता है। इसमें डेटा को बिना किसी रुकावट के बहुत – सी प्रणालियों से होकर ले जाया जा सकता है।

यूनिकोड स्टैण्डर्ड को एपल, एच.पी., माइक्रोसॉफ्ट, ऑरेकल, आई.बी.एम., इंटरनेट  जस्ट सिस्टम, साईबेस, सैप, सन, यूनिसिस जैसी बहुत – सी कंपनियों ने अपनाया है।

एक्स.एम.एल, जावा, एकमा स्क्रिप्ट (जावास्क्रिप्ट), एल.डी.ए.पी., कोर्बा 3.0, डब्ल्यू.एम.एल जैसे आधुनिक मानदंडों के लिए यूनिकोड की जरुरत होती है और ये आई.एस.ओ/आई.ई.सी. 10646 को लागू करने का आधिकारिक तरीका भी है। जैसा की आप ने पढ़  ही लिया होगा की unicode kya hai ? अब बात करे गए यूनिकोड की विशेष्ता क्या है

  यूनिकोड की विशेषताएँ ?

  • यह विश्व की सभी लिपियों से सभी संकेतों के लिए एक अलग कोड बिन्दु प्रदान करता है।
  • यह वर्णों (कैरेक्टर्स) को एक कोड देता है, न कि ग्लिफ (glyph) को।
  • यूनिकोड की मदद से एक ही डॉक्यूमेंट में अनेक भाषाओं के टेक्स्ट लिखे जा सकते हैं।
  • टेक्स्ट को केवल एक निश्चित तरीके से प्रोसेस करने की जरुरत पड़ती है जिससे खर्च कम होता है।
  •  बाएँ से दाएँ लिखी जाने वाली लिपियों के अतिरिक्त दाएँ-से-बाएँ लिखी जाने वाली लिपियों (अरबी, हिब्रू आदि) को भी इसमें शामिल किया गया है। ऊपर से नीचे की तरफ लिखी जाने वाली लिपियों का अभी अध्ययन किया जा रहा है।
  • यह ध्यान रखना जरूरी है कि यूनिकोड केवल एक कोड-सारणी है। इन लिपियों को लिखने/पढ़ने के लिए इनपुट मेथड एडिटर और फॉण्ट-फाइलें जरूरी हैं।

जहाँ भी सम्भव यूनिकोड होता है, यह भाषाओं का एकीकरण करने का प्रयत्न करता है। इसी नीति के तहत सभी पश्चिम यूरोपीय भाषाओं को लैटिन के अन्तर्गत समाहित किया गया है; सभी स्लाविक भाषाओं को सिरिलिक (Cyrilic) के अन्तर्गत रखा गया है; हिन्दी, संस्कृत, मराठी, नेपाली, सिन्धी, कश्मीरी आदि के लिए ‘देवनागरी’ नाम से एक ही ब्लॉक दिया गया है; चीनी, जापानी, कोरियाई, वियतनामी भाषाओं को ‘युनिहान्’ (UniHan) नाम से एक ब्लॉक में रखा गया है; अरबी, फारसी, उर्दू आदि को एक ही ब्लॉक में रखा गया है।

    यूनिकोड के लाभ क्या है ?

  • एक ही दस्तावेज में अनेकों भाषाओं के टेक्स्ट लिखे जा सकते है।
  • टेक्स्ट को केवल एक निश्चित तरीके से संस्कारित करने की जरूरत पड़ती है जिससे विकास-खर्च एवं अन्य खर्चे कम लगते हैं।
  • किसी सॉफ्टवेयर-उत्पाद का एक ही संस्करण पूरे विश्व में चलाया जा सकता है। क्षेत्रीय बाजारों के लिए अलग से संस्करण निकालने की जरूरत नहीं पड़ती
  • किसी भी भाषा का टेक्स्ट पूरे संसार में बिना भ्रष्ट हुए चल जाता है। पहले इस तरह की बहुत समस्याएंम् आती थीं।

   यूनिकोड की हानिया क्या है ?

यूनिकोड, आस्की तथा अन्य कैरेकटर कोडों की अपेक्षा अधिक स्मृति (मेमोरी) लेता है। कितनी अधिक स्मृति लगेगी यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप कौन सा यूनिकोड प्रयोग कर रहे हैं।

 

   इंडियन यूनिकोड ?

  1. देवनागरी
  2. बंगाली लिपि
  3. गुजराती लिपि
  4. गुरुमुखी
  5. कन्नड़ लिपि
  6. लिम्बू लिपि
  7. मलयालम लिपि
  8. उड़िया लिपि
  9. सिंहल लिपि
  10. तेलुगु लिपि

   उपयोगी यूनिकोड वर्तमान स्थिती

unicode tools –

(क) String to Unicode Value

(ख) Numeric Value to String

(ग) Numeric Value Generator

   फॉण्ट परिवर्तक

अगर कोई लेख किसी जगह पर किसी ऐसे फॉन्ट को प्रयोग कर के लिखा गया है जो कि यूनिकोड नहीं है तो फॉन्ट परिवर्तक प्रोग्रामों का प्रयोग करके उसे यूनिकोड में बदला जा सकता है।  अब हम बात करेंगे की यूनिकोड का क्या काम है ?

  यूनिकोड का क्या काम है ?

Unicode वास्तव में विश्‍व की सभी भाषाओं के प्रत्येक अक्षर और संकेतों के लिए कंप्यूटर में एक Universal code कोड उपलब्ध कराने की व्यवस्था है। इसके द्वारा विश्‍व की सभी भाषाओं के प्रत्‍येक अक्षर को एक unique code (number) दिया जाता है।

 

उम्मीद करता हु unicode kya hai ? आर्टिकल आपको अच्छा लगा होगा और इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर कीजिये अगर आपको इस artical  में कही भी  कुछ भी  doubts है तो मुझे कमेंट करके जरूर बातये धन्येवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *